योगी सरकार पैनी निगाह रख रही है विरोधियों की हर साजिशों पर आरडी शुक्ला की कलम से

योगी सरकार इस समय विरोधियों के द्वारा रचे जा रहे षड्यंत्र पर पैनी निगाह रखे हुए और क्यों ना रखें योगी सरकार ने अपराधियों और माफियाओं के खिलाफ जो सख्त कदम उठाए हैं उससे यह लोग अपनी जान माल की रक्षा के लिए विरोधियों के दलों में शरणागत हो गए हैं इसी के चलते यह घबराकर विरोधी दलों में शरण लेकर अपने जानमाल की रक्षा की गुहार लगा रहे हैं लेकिन योगी सरकार है कि वह इनका पीछा नहीं छोड़ रही है इनके महल उमा मकानों को नित्य धरा शाही किया जा रहा है अपराधी या तो जेल में है या तो ऊपर चले गए या मुठभेड़ों में घायल हुए हैं इनकी संख्या हजारों में है ऐसी स्थिति में अपराधी माफिया जाकर विरोधियों के दलों में घुस गए हैं अपनी जान बचाने के लिए पुलिस उनको छोड़ने के पक्ष में नहीं है योगी सरकार उनको कतई बर्दाश्त नहीं कर रही है इसी के चलते यह अपराधी भ्रष्टाचारी माफिया विरोधी नेताओं के साथ मिलकर प्रदेश में कुछ बवाल मचा ना चाहते हैं लेकिन पुलिस इन पर इतनी पैनी निगाह रखें कि हर साजिश असफल होती जा रही है इन्होंने कई तरह से योगी सरकार को घेरने की कोशिश की लेकिन हर जगह असफल है अब उन्होंने उपचुनाव का मौका देखा तो हाथरस में अपना अड्डा जमा लिया और उसको रण क्षेत्र बना दिया लेकिन पुलिस है कि उनकी दाल नहीं गलने दे रही है यह चाहते हैं किसी भी तरह पुलिस का ध्यान उस ओर से हटाए जिससे इनकी अवैध संपत्ति बच सके जबकि सरकार ने तय किया है वहीं के आर्थिक स्रोतों को नष्ट कर देगी यह पहली बार हो रहा है जबकि कानून तो पहले से था अवैध संपत्ति को ज़ब्त करने का उसे गिराने का लेकिन 40 50 सालों से तो मैं देख रहा हूं किसी अपराधी का एक कमरा तक नहीं तोड़ा गया ना जप्त किया गया कानून तो पहले भी था लेकिन उसका पालन नहीं किया गया बल्कि उल्टे इन अपराधियों और माफियाओं को इतना ऊपर उठा दिया गया कि वह राज करने लगे सांसद और विधायक बनने लगे दूनी रात चौगुनी तरक्की करने लगे लेकिन आज पुलिस ने ठान लिया है कि इनका साम्राज्य ध्वस्त करके रहेगी और वैसा हो रहा है तो यह बेचारे जाएं कहां अब तक तो यह राज कर रहे थे और अब उनका सर्वनाश हो रहा है इन्होंने विरोधियों को अपने साथ ले लिया और उनके दलों में घुस गए योगी जी करो ना महामारी से जनता को बचाने में जुटे हुए थे तो दूसरी ओर अपराधियों को दौड़ाने में भी तीसरी और प्रदेश के विकास बड़ी बड़ी सड़कों के निर्माण का कार्य चल रहा था यह सब विरोधियों को रास नहीं आ रहा था योगी जी इतना अच्छा कार्य कैसे कर रहे हैं जनता उनको क्यों मान रही है मान रही है बस यही उनको परेशानी है प्रदेश की कानून व्यवस्था पहले से बहुत बेहतर है अपराधी अपने पैर नहीं दिखा पा रहे हैं प्रदेश में ऐसा वातावरण आजादी के बाद पहली बार देखने को मिल रहा है 40 साल से तो मैं अपराधियों के कृत्य देख रहा हूं उनकी जगह नेता देख रहा हूं लेकिन उनके ऊपर प्रहार करने वाला कोई नहीं था वही सर्वे सर्वे था नेताओं से जो चाहता था करवा रहा था लेकिन योगी सरकार में मामला उल्टा हो गया आज बस यही सब विरोधियों को खा रहा है और वह तरह तरह की साजिश करके योगी जी को बदनाम करना चाहते हैं लेकिन एक साधु को यह राक्षस नहीं हरा सकते स्वयं हारते जा रहे हैं और धीरे-धीरे उनका खात्मा हो जाएगा इसी कारण योगी सरकार अपनी पैनी निगाह इन विरोधियों की साजिशों के ऊपर लगाए हुए हैं कुछ भी करवा सकते हैं जनता को चाहिए अपनी सरकार के खिलाफ होने वाली किसी भी साजिश की जानकारी समय रहते पुलिस को दे दे हो सकता है आपके आसपास इनकी कहीं खिचड़ी पक रही हो कोई षड्यंत्र रचा जा रहा हो कर्म सा


Popular posts
यह उस छविराम डाकू की कहानी है जिसने एटा जिले के अलीगंज थाने में घुसकर सारे पुलिस वालों को मार कर हथियार लूट लिए थे
बिल हटी का जंगल जहां 2 दर्जन से अधिक आदमी और औरतों का हड्डियों का कंकाल देखकर कलेजा कांप उठा पता चला यहां लखनऊ और आसपास के जिलों से अपराधी लोगों का अपरहण करके लाते हैं और मार कर फेंक देते हैं फिरौन की लाश को गिद्ध 1 घंटे में चट कर जाते हैं अब सुनाते हैं उस जंगल की सनसनीखेज कहानी
तमाम पुलिसवालों की हत्या करने वाले दुर्दांत खूंखार डाकू छविराम उर्फ़ नेताजी को कैसे लगाया पुलिस ने ठिकाने नहीं मानी सरकार की यह बात कि उसको जिंदा आत्मसमर्पण करवा दो पूर्व डीजीपी करमवीर सिंह ने कहां हम इसको माला पहनकर आत्मसमर्पण नहीं करने देंगे और सरकार को झुका दिया कहानी सुनिए आरडी शुक्ला की कलम से विकास उसके सामने कुछ नहीं था
कुदरत से टकराने का दंड भोग रहे हैं दुनिया के इंसान आरडी शुक्ला की कलम से
सांसद की गाड़ी बरसाती गड्ढे का शिकार
Image