योगी जी ने 176 का दांव चल के भ्रष्टाचारियों को पस्त कर दिया और जनता को मस्त कर दिया

आर डी शुक्ला द्वारा   उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 176 फोन नंबर पर अपनी समस्याओं को लिखवाने के लिए जनता को जो अधिकार दे दिया उससे भ्रष्टाचारी पस्त हो गए और जनता मस्त हो गई हुआ यह योगी आदित्यनाथ जी ने एक कॉल सेंटर बनाकर 176 नंबर पर जनता को फोन करके अपनी समस्या चाहे वह जिस विभाग की हो लिखवाने का कार्य शुरू करवा दिया उसमें यह आदेश दिया की जो भी समस्या जनता की है और वह 176 पर दर्ज करवाती है उसका निवारण होने के बाद ही अंत माना जाएगा यह एक ऐसा आदेश योगी जी ने किया और ऐसी चाल खेली कि आज हर विभाग प्रदेश का परेशान हो गया जनता बड़े आराम से 20 साल से जो उसके काम फंसे हुए हैं वह 176 पर फोन करके दर्ज करवा रही है चाहे वह प्रदेश के किसी भी भाग का हो वह तुरंत वहां दर्ज करके संबंधित विभाग को भेज दिया जाता है संबंधित विभाग जब तक उस प्रकरण का अंत नहीं कर देता तब तक 176 में दर्ज समस्या का अंत नहीं होता यह इतनी विकट चल खेली योगी जी ने कि आज प्रदेश का हर सरकारी विभाग जहां जहां पर जनता को परेशान कर रहा था और काम रोक कर बैठा था वहां अब आफत मच गई है हर विभाग कि वह भ्रष्ट लोग परेशान हो उठे हैं जो बिना पैसा लिए काम ही नहीं करते थे आज उनको 176 फोन नंबर पर दर्ज हुई शिकायत निश्चित तौर पर दूर करनी पड़ रही है फाइल निकाली जा रही हैं और जनता की समस्या दूर की जा रही है वह भी इसलिए कि वह प्रकरण ही तब खत्म माना जाएगा जब 176 नया तर्ज हो जाएगा की जनता का काम पूर्ण हुआ आज हर विभाग के भ्रष्ट लोग परेशान हो उठे हैं बिलबिला रहे हैं बिन पैसा काम करना पड़ रहा है कामना करने वाले फोन से ही पकड़े जा रहे हैं हर विभाग में इतनी तेजी से काम हो रहा है कि वहां किसी को किसी की सिफारिश या किसी के जुगाड़ की जरूरत ही नहीं है अब योगी बाबा के इस हथकंडे ने बड़े बड़ों की ढीली कर दी है वह परेशान हैं कि आखिर इस चाल से बचे कैसे प्रदेश का हर आदमी जिसके भी काम फंसे थे और नहीं हो रहे थे उसको सिर्फ अपने काम के बारे में 176 नंबर पर फोन करके अपनी समस्या बता देनी है और उस समस्या का निवारण होने तक का काम 176 करेगा उस समस्या जब तक खत्म नहीं हो जाती तब तक 176 नहीं मानेगा और यही नहीं योगी जी आने वाली शिकायतों की समीक्षा वरिष्ठ अधिकारियों के माध्यम से स्वयं करते और करवा रहे हैं हर अधिकारी कर्मचारी इस में फंस गया है यह जाल योगी बाबा ने ऐसा डाला है किस में छोटी बड़ी सभी भ्रष्टाचार की मछलियां अपने आप हंस रहे हैं हर विभाग में हाहाकार मचा हुआ है 176 में दर्ज होने वाली शिकायत तत्काल प्रभाव से संबंधित विभागों में भेज दी जाती है और जब वहां से वह शिकायत ठीक हो जाती है या नहीं होती है उस का लेखा-जोखा 176 में रहता है यह जनता के लिए तो खुशी की बात है और भ्रष्टाचारी कर्मचारियों के लिए दुखद बात है योगी जी ने यूं ही इतना मामला टाइट कर रखा है कि लोग खासतौर पर कानून व्यवस्था के मामले में तो उत्तर प्रदेश सबसे सख्त प्रदेश हो गया है जिस तरीके से पुलिस कार्य कर रही है उससे तो यही लगता है कि ऐसा पहले कभी नहीं हुआ ऐसी शक्ति पहले कभी नहीं हुई आज प्रदेश की हालत दिन दूनी रात चौगुनी प्रगति कर रही है उन्होंने अपने मंत्रिमंडल का विस्तार कर दिया कुछ मंत्री निकाले काफी भर्ती किए काफी के विभागों में परिवर्तन किया गया अब उनकी पाठशाला भी लगाने जा रहे हैं उनको समझाना है कि अब वह जनता के लिए जुट जाएं योगी जी जिस तरह से कार्य कर रहे हैं अट्ठारह अट्ठारह घंटे वह यह साबित कर रहे हैं कि प्रदेश को उच्च स्तर पर ले जाएंगे और वैसे भी मुख्यमंत्री के रूप में हो देश के सबसे नंबर वन पर हैं और वह 2022 के चुनाव तक सर्वोच्च पर ही रहेंगे ऐसा जनता बताती है


Popular posts
यह उस छविराम डाकू की कहानी है जिसने एटा जिले के अलीगंज थाने में घुसकर सारे पुलिस वालों को मार कर हथियार लूट लिए थे
बिल हटी का जंगल जहां 2 दर्जन से अधिक आदमी और औरतों का हड्डियों का कंकाल देखकर कलेजा कांप उठा पता चला यहां लखनऊ और आसपास के जिलों से अपराधी लोगों का अपरहण करके लाते हैं और मार कर फेंक देते हैं फिरौन की लाश को गिद्ध 1 घंटे में चट कर जाते हैं अब सुनाते हैं उस जंगल की सनसनीखेज कहानी
तमाम पुलिसवालों की हत्या करने वाले दुर्दांत खूंखार डाकू छविराम उर्फ़ नेताजी को कैसे लगाया पुलिस ने ठिकाने नहीं मानी सरकार की यह बात कि उसको जिंदा आत्मसमर्पण करवा दो पूर्व डीजीपी करमवीर सिंह ने कहां हम इसको माला पहनकर आत्मसमर्पण नहीं करने देंगे और सरकार को झुका दिया कहानी सुनिए आरडी शुक्ला की कलम से विकास उसके सामने कुछ नहीं था
कुदरत से टकराने का दंड भोग रहे हैं दुनिया के इंसान आरडी शुक्ला की कलम से
सांसद की गाड़ी बरसाती गड्ढे का शिकार
Image